Home झारखंड कभी भी कर सकता हूं निरीक्षण, पदाधिकारी और ठेकेदार सतर्क रहे: मुख्यमंत्री सोरेन

कभी भी कर सकता हूं निरीक्षण, पदाधिकारी और ठेकेदार सतर्क रहे: मुख्यमंत्री सोरेन

0
कभी भी कर सकता हूं निरीक्षण, पदाधिकारी और ठेकेदार सतर्क रहे: मुख्यमंत्री सोरेन

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज में बिरसा किसान सम्मान समारोह में हिस्सा लिया। लातेहार जिले के खेल स्टेडियम में आयोजित प्रमंडल स्तरीय बिरसा किसान सम्मान समारोह (के.सी.सी. वितरण कार्यक्रम) में माननीय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने किसानों के बीच केसीसी का वितरण कर लाभुकों को लाभान्वित किया। केसीसी वितरण कार्यक्रम लातेहार के साथ-साथ सभी प्रमंडल के सभी जिलों के सभी प्रखंडों में किया गया। जिसके तहत 1 लाख किसानों को केसीसी वितरित किया गया।

सरकारी निर्माण कार्य के पदाधिकारियों और ठेकेदारों को चेताया

बिरसा कृषि सम्मान समारोह के मौके पर जनता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने राज्य के सरकारी निर्माण कार्य के पदाधिकारियों और ठेकेदारों को चेताते हुए कहा “राज्य में सरकारी निर्माण कार्य का मैं कभी भी, किसी भी समय औचक निरीक्षण करवा सकता हूँ। इसलिए पदाधिकारी और ठेका-टेंडर लेने वाले ठेकेदार सतर्क रहें।
अगर निर्माण क्वालिटी में कोई गड़बड़ी पायी गयी तो संबंधित पदाधिकारी और ठेकेदार नपे जायेंगे।”

किसानों के बीच बांटे 334.94 करोड़ का ऋण

पलामू प्रमंडल के 52043 किसानों को केसीसी का लाभ दिया गया। इनके बीच 334.94 करोड़ केसीसी ऋण का वितरण किया गया। इसमें पलामू जिले के 18,500 किसानों के बीच 100 करोड़ ऋण का वितरण किया गया। वहीं लातेहार जिले के 23,204 किसानों के बीच 150.12 करोड़ ऋण का वितरण किया गया। वहीं गढ़वा जिले के 10,339 किसानों के बीच 87.81 करोड़ केसीसी ऋण वितरण किया गया। कार्यक्रम स्थल पर मुख्यमंत्री जी द्वारा प्रमंडल क्षेत्र के तीनों जिले पलामू, लातेहार एवं गढ़वा के 10-10 किसानों को सांकेतिक रूप से केसीसी ऋण का वितरण किया गया।

भाजपा पर लगाए कई आरोप

जनता के संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री ने अपने कार्यकाल में किए गए कार्यों को गिनाया और साथ ही साथ पूर्व की भाजपा सरकार और वर्तमान की केंद्र की भाजपा सरकार पर कई आरोप लगाए।मुख्यमंत्री ने कहा :- “हमने किसानों पर थोपे जाने वाले काले कृषि कानून का हमेशा विरोध किया, किसानों के लिए कंटीले तार लगाने वालों का विरोध किया। यही कारण है आज हमें परेशान करने की कोशिश की जा रही है।

पूर्ववर्ती सरकार ने किसानों को बेहाल कर रखा था, हमने सरकार बनते ही किसानों का ऋण माफ करना शुरू किया। यह आदिवासी मुख्यमंत्री आप सभी की दिन-रात सेवा कर रहा है। जो विपक्षियों को पच नहीं रहा है।
कोरोन काल जैसी भयानक स्थिति में भी राज्य की हमारी माताओं-बहनों की मदद से हमने सबको भोजन कराया। जबकि पूर्ववर्ती सरकार में हमने लोगों को भात-भात कह मरते देखा।
यह सरकार आपके लिए हमेशा खड़ी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here